Thursday, December 13, 2018

You can't get back youth -Sanskrit sloka

💐🌷🍀🌺💐🌷🍀🌺

*अर्था भवन्ति गच्छन्ति लभ्यते च पुन: पुन: ।*
   *पुन: कदापि नायाति गतं तु नवयौवनम् ।।*

भावार्थ - धन मिलता और नष्ट होता रहता  है, नष्ट होने के बाद  फिर से प्राप्त हो जाता है, परन्तु जवानी एक बार निकल जाए तो कभी वापस नही आती, अतः विपुल क्षमता, जोश एवम् महाशक्ति से सम्पन्न यौवन का एक एक अमूल्य पल ऐसे सत्कर्मों में व्यय करना चाहिए कि शरीर समाप्त होने के बाद भी समाज और राष्ट्र हमें याद करता रहे।
🙏🏻💐🙏🏻 *आपका आज का दिन परम् प्रसन्नता से परिपूर्ण रहे, ऐसी शुभकामना *🙏🏻💐🌺🌸🌷💐🌺🌸🌷💐🌺🌸

No comments:

Post a Comment