Tuesday, December 11, 2018

Sanskrit subhashitam

💐🌷🍀🌺💐🌷🍀🌸
*तत् कर्म यत् न बन्धाय सा विद्या या विमुक्तये।*
*आयासाय अपरं कर्म विद्या अन्याशिल्पनैपुणम्॥*

वह कर्म है जो बंधन में न डाले, वह विद्या है जो मुक्त कर दे। अन्य कर्म श्रम मात्र हैं और अन्य विद्याएँ यांत्रिक निपुणता मात्र है।
🙏🏻💐🙏🏻 *आपका आज का दिन परम् प्रसन्नता से परिपूर्ण रहे, ऐसी शुभकामना *🙏🏻💐🌺🌸🌷💐🌺🌸🌷💐🌺🌸

No comments:

Post a Comment