Friday, December 14, 2018

only dharma will come till end-Sanskrit subhashitam

💐🍀🌸🌷💐🍀🌸🌷
*धनानि भूमौ, पशवः हि गोष्ठे, नारि गृहद्वारि, जनाः श्मशाने !*
*देहश्चितायाम् , परलोक मार्गे, धर्मानुगो गच्छति जीवः एकः !!*

शरीर शांत होने पर धन सम्पदा भूमि पर ही पड़ी रह जाती है, पशु अस्तबल में रह जाते हैं [वर्तमान संदर्भ में मोटर गाडियाँ], पत्नि घर के द्वार तक साथ देती है, बंधुजन श्मशान तक साथ चलते हैं और अपनी स्वयं की देह चित्ता तक ही साथ देती है । तत्पश्चात परलोक मार्ग पर जीव को अकेला ही जाना होता है । केवल धर्म ही उसका अनुगमन करता हुआ चलता है । 
🙏🏻💐🙏🏻 *आपका आज का दिन परम् प्रसन्नता से परिपूर्ण रहे, ऐसी शुभकामना *🙏🏻💐🌺🌸🌷💐🌺🌸🌷💐🌺🌸

No comments:

Post a Comment